Share this article

नमस्कार दोस्तों आज के ब्लॉग में हम बात करेंगे महान अभिनेत्री फरीदा जलाल की जीवनी के बारे में। फरीदा जलाल का नाम किसी परिचय का मोहताज़ नहीं हैं, वह एक प्रतिभाशाली अभिनेत्री है। उन्होंने एक नायिका के रूप में शुरुआत की थी और कुछ समय बाद उन्होंने कई सुपरस्टार्स की मां का किरदार निभाया था।

फरीदा जलाल की जीवनी

फरीदा जलाल का जन्म

फरीदा जलाल का जन्म 14 मार्च 1949 को भारत की राजधानी दिल्ली में हुआ था। उन्होंने 1978 में तबरेज़ बर्मावर से शादी की थी जो की कर्नाटक राज्य के रहने वाले थे। फरीदा जलाल के पति की मृत्यु 2003 में हो गई थी। उनका एक लड़का है जिसका नाम यासीन है।

नाम फरीदा जलाल
जन्म14 मार्च 1949
जन्म स्थान नई दिल्ली, भारत
शिक्षासेंट जोसेफ कॉन्वेंट, पंचगनी, महाराष्ट्र
कामअभिनेत्री
शौकफिल्म देखना, नाचना
पसंदीदा भोजन बिरयानी 
पसंदीदा अभिनेत्रीमीना कुमारी
पहली फिल्‍म तक़दीर
पतितबरेज़ बर्मावर
पुत्रयासीन

फरीदा जलाल के फिल्मी करियर की शुरुआत

फरीदा जलाल ने अपने करियर की शुरुआत सन 1960 में एक रियलिटी कॉन्टेस्ट से की थी। यह एक प्रतिभा खोज थी। राजेश खन्ना को बतौर हीरो नंबर वन चुना गया था। और फरीदा जलाल बतौर हीरोइन नंबर वन चुनी गईं। यह फिल्मफेयर फंक्शन था। समारोह में मशहूर निर्माता ताराचंद बड़जात्या भी मौजूद थे। वह फरीदा जलाल को इतना पसंद करते थे कि उन्हें ‘तकदीर’ फिल्म में मौका दिया। राजश्री प्रोडक्शन में काम करने के बाद उनकी किस्मत चमक गई।

यह भी पढ़ें:

फरीदा जलाल का फ़िल्मी करियर

सन 1969 में ‘आराधना’ फिल्म में वह राजेश खन्ना की नायिका थीं। उनका नाम रेणु था। फिल्म की शूटिंग के दौरान शर्मिला टैगोर ने भी उनका खूब ख्याल रखा।

फरीदा जलाल और अभिनेता डैनी डेन्जोंगपा ने एक हिट जोड़ी बनाई। चाहे वह ‘काला सोना’ हो या ‘धर्मात्मा’। फरीदा जलाल एक प्रतिभाशाली अभिनेत्री बन गईं।

महमूद की वजह से उन्होंने ‘पारस’ फिल्म में कॉमेडी की। प्यार की कहानी की शूटिंग के समय से ही फरीदा जलाल अमिताभ बच्चन को काफी अच्छी तरह से जानती हैं। गौरतलब है कि उन्हें मिस्टर बच्चन और जया की शादी के लिए भी आमंत्रित किया गया था। हालांकि ‘प्यार की कहानी’ में फरीदा जलाल अनिल धवन की हीरोइन थीं.. और तनुजा अमिताभ बच्चन की हीरोइन थीं. फिर वो वक्त आया जब फरीदा जलाल को फिल्में छोड़नी पड़ीं।

फरीदा जलाल की जीवनी

दरअसल, 70 के दशक में मल्टीस्टारर फिल्मों का चलन शुरू हुआ था। और यहां तक ​​कि शीर्ष अभिनेत्रियां भी छोटे-छोटे रोल कर रही थीं। इसलिए फरीदा जलाल जैसी अभिनेत्री के लिए ज्यादा गुंजाइश नहीं थी। उन्हें इस बात का अहसास हुआ और उन्होंने फिल्में छोड़ दीं।

फरीदा जलाल को टेलीविजन में भी देखा गया था। उन्होंने ‘ये जो है जिंदगी’ सीरियल में भी काम किया था । उन्हें एक शो ‘स्टार यार कलाकार’ में टेलीविजन होस्ट के रूप में देखा गया था। । फिल्मों और टेलीविजन में उनका हुनर ​​कॉमेडी से लेकर… इमोशनल सीन से लेकर रोमांस से लेकर मां का रोल करने तक… भारतीय सिनेमा के इतिहास में फरीदा जलाल का नाम हमेशा याद किया जाएगा।

फरीदा जलाल का वैवाहिक जीवन

तबरेज से उनकी शादी हुई थी। तबरेज फिल्मों में भी काम कर रहे थे। जैसे ‘दयार ए मदीना’। दोनों की मुलाकात ‘जीवन रेखा’ फिल्म की शूटिंग के दौरान हुई थी। शादी के बाद उन्हें बैंगलोर शिफ्ट होना पड़ा। इसलिए उन्होंने फिल्में छोड़ दीं और शादी से उनका एक बेटा है। वह ‘बॉबी’ फिल्म में नजर आई थीं। और राज कपूर की फिल्म ‘हीना’ में भी। ‘हीना’ के बाद फरीदा जलाल ने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

फरीदा जलाल की प्रमुख फिल्में

वर्षफिल्म का नाम
1967तकदीर
1969आराधना,
महल
1970गोपी,
देवी,
नया रास्ता
1971पारस,
प्यार की कहानी
1972ज़िन्दगी ज़िन्दगी,
आँख मिचौली,
रिवाज़
1973अचानक,
हीरा,
बॉबी
1974मजबूर
1975धोती लोटा और चौपाटी,
दो जासूस,
धर्मात्मा,
आक्रमण,
उलझन,
खुशबू,
काला सोना,
संकल्प
1976सबसे बड़ा रुपैया,
शक
1977आखिरी गोली,
शतरंज के खिलाड़ी,
पलकों की छाँव में,
कसम कानून की,
आलाप
1978नया दौर,
गंगा की सौगन्ध
1979ढ़ोंगी,
जुर्माना
1980पत्थर से टक्कर,
चम्बल की कसम
1981ज्वाला डाकू
1991हिना
1992दिल आशना है,
कल की आवाज़,
पायल
1993गर्दिश
1994क्रान्तिवीर,
एलान,
लाड़ला,
दुलारा,
मम्मो
1995जय विक्रान्ता,
वीरगति,
जवाब,
दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे
1996राजा हिन्दुस्तानी,
अंगारा,
अजय,
राजकुमार,
शस्त्र,
दुश्मन दुनिया का
1997ज़िद्दी,
अफ़लातून,
ज़ोर,
जुदाई,
लहू के दो रंग,
दिल तो पागल है
1998डुप्लीकेट,
सोल्जर,
सलाखें,
जब प्यार किसी से होता है,
कुछ कुछ होता है
1999हिन्दुस्तान की कसम,
खूबसूरत,
दिल क्या करे
2000खौफ़,
तेरा जादू चल गया,
कहो ना प्यार है,
गज गामिनी,
पुकार,
दुल्हन हम ले जायेंगे,
क्या कहना
2001कभी खुशी कभी ग़म,
मोक्ष,
लज्जा,
चोरी चोरी चुपके चुपके
2002द लेजेंड ऑफ भगत सिंह,
बधाई हो बधाई,
दीवानगी
2003मैं प्रेम की दीवानी हूँ,
जाल
2004टार्ज़न द वण्डर कार,
गर्व
2005बरसात,
प्यार में ट्विस्ट
2006आर्यन
2007बिग ब्रदर
2019स्टुडेंट ऑफ दी ईयर 2

फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री पुरस्कार

फरीदा जलाल को 1972, 1992, 1996 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री पुरस्कार से नवाजा गया था।

निष्कर्ष

फरीदा जलाल एक महान और प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं जिन्होंने अपने 50 साल भारतीय सिनेमा को दिए। और भी प्रसिद्ध हस्तियों के जीवन के बारे में जानने के लिए हमारे नोटिफिकेशन को allow कर लें।

Share this article