Share this article

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका मेरे ब्लॉग पर, आज हम बात करेंगे एक देश भगत और रियल लाइफ हीरो ग्रांडमास्टर शिफूजी शौर्य भारद्वाज की। सबसे पहले जानते है की उनके नाम शिफूजी का क्या मतलब है , शिफू शब्द दरअशल चीन से तालुक रखता है जहा इसका मतलब होता है मेंटोर, स्किलफुल्ल पर्सन या मास्टर। मार्सेल आर्ट्स में भी शिफू शब्द का इस्तेमाल होता हैं जिसका मतलब है सम्मान।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज की जीवनी

नामदानवीर कर्ण कुलदीपक प्रताप भारद्वाज
अन्य नामग्रांडमास्टर शिफूजी,
मास्टर जी,
उस्ताद जी,
पहलवान जी,
महाराज जी,
खलीफा जी,
साहब,
फकीरा जी
जन्म23 March 1973
जन्म स्थानगुरदासपुर, पंजाब
राष्ट्रीयताभारतीय
पितागुरु बाबूजी रुद्रभान कृष्ण गोपाल जी भारद्वाज
मातानितांबरा देवी जुधव भारद्वाज
पत्नीस्वर्णिम आरती तिवारी शौर्य भारद्वाज
बच्चेवीरभान प्रताप शौर्य भारद्वाज
अतिक्षा शौर्य भारद्वाज
शिक्षाPHD
पुरस्कारशहीद ए आजम भगत सिंह संभावना पुरस्कार
“स्वराज शौर्य सम्मान”

शिफूजी शौर्य भारद्वाज का जन्म

शिफूजी का जन्म 23 मार्च 1973 को पंजाब के गुरदासपुर गांव में हुआ था। उनका असली नाम शौर्य भारद्वाज हैं और ये जबलपुर से नाता रखते हैं। शिफूजी के पास शिफू और शिफूजी शब्दों का एकाअधिकार है क्यूँकि उनके पास सरकार की और से इन दोनों शब्दों का ट्रेडमार्क रजिस्टर हैं।

शिफूजी खुद कहते है शिफू मेरा ट्रेडमार्क हैं और एक ब्रांड हैं। वो कहते हैं भारत का इकलौता मैं एक ऐसा शख्स हूँ जिसके आधार कार्ड पर ग्रांडमास्टर लिखा हुआ हैं।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज की शहीद ए आज़म भगत सिंह के प्रति दीवानगी देखते ही बनती हैं। वो अपनी हर शर्ट, टीशर्ट पर भगत सिंह की पिक्चर लगाते हैं। वो भगत सिंह को अपना रोल मॉडल मानते हैं।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज का परिवार

शिफूजी शौर्य भारद्वाज के पिता का नाम रुद्रभान कृष्ण गोपाल जी भारद्वाज हैं। इनके पिता कुस्ती के पहलवान थे। शिफूजी शौर्य भारद्वाज की माता का नाम नितांबरा देवी जुधव भारद्वाज हैं और वो पेशे से टीचर थी जो गरीब बच्चों को मुफ्त में पढ़ाया करती थी।

शिफूजी का जन्म एक क्रांतिकारी परिवार में हुआ था। उनके दादाजी का आज़ादी की जंग में योगदान था और वो “काकोरी ट्रैन” के होने वाले हमले में भी शामिल थे।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज की ट्रेनिंग

शिफूजी शौर्य भारद्वाज 2 साल की उम्र से ही कुश्ती सीखते आये हैं और समय के साथ उनकी ये ट्रेनिंग और भी कड़ी होती गयी। शिफूजी का कहना हैं उनके मुख्य गुरु उनके माता – पिता हैं। वो कहते हैं उनका भरोसा कुश्ती और अखाड़े पर हैं।

वर्ल्ड की प्राचीनतम व सबसे खतरनाक कला भारतीय मार्शल आर्ट्स की शिफूजी ने 17 साल ट्रेनिंग ली हैं। वो बताते हैं इस घातक युद्ध कला की रचना महान योद्धा परशुराम जी ने की थी।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज की ट्रेनिंग
Image Credit Shifuji

शिफूजी ने मार्शल आर्ट्स के लिए मशहूर शाओलिन मन्दिर जाकर भी शिखा। लेकिन फीस के लिहाज से वो शाओलिन मन्दिर को अमीरो की जगह बताते हैं।

यह भी पढ़ें:

शिफूजी शौर्य भारद्वाज का फ़िल्मी करियर

शिफूजी ने वर्ष 2016 में बॉलीवुड की हिट फिल्म “बागी” से फ़िल्मी करियर की शुरुआत की थी। बागी फिल्म में शिफूजी ने ‘गुरुस्वामी’ नामक शिक्षक की भूमिका निभाई थी। शिफूजी ने ही बागी फिल्म में टाइगर श्रॉफ को एक्शन सिखाया था और यही नहीं टाइगर श्रॉफ के on स्क्रीन ही नहीं बल्कि ऑफ स्क्रीन भी एक्शन गुरु शिफूजी ही हैं। फिल्मो में वो चीफ एक्शन डिज़ाइनर हैं।

शिफूजी ने इसके बाद “बागी 2” में कर्नल रणजीत सिंह वालिया का किरदार निभाया था। उन्होंने बॉलीवुड में बहुत से सेलिब्रिटी जैसे आलिया भट्ट, श्रद्धा कपूर, अजय देवगन, काजोल, विद्युत् जामवाल को भी एक्शन सीखा चुके हैं।

शिफूजी हॉलीवुड की बहुत सी फिल्मों में जैसे की “द लीजेंड ऑफ ईराक वॉ”, “स्नाइपर विंग्स सीरीज” में चीफ एक्शन मेंटर रह चुके हैं।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज की उपलब्धियाँ

  • शिफूजी ने वर्ष 1999 में एक संस्था जिसका नाम हैं “मिशन परिहार” की शुरुआत की थी। मिशन परिहार का मुख्य उद्देश्य आत्मरक्षा, आत्म-अनुशासन, आत्म-जागरूकता के क्षेत्रों में शिक्षित और प्रशिक्षित करना। उन्होंने लगभग 39 लाख महिलाओं को सर्वाइवल टैक्टिस और सेल्फ डिफेन्स की ट्रेनिंग दे चुके हैं। और इन सब के लिए उन्होंने कभी भी कोई शुल्क नहीं लिया।
  • मिशन परिहार मुहिम के जरिये एक करोड़ महिलाओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग देने का उद्देश्य हैं।
  • शिफूजी का मानना हैं की भारत की शिक्षा प्रणाली में 1 साल का सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त करना अनिवार्य होना चाहिए।
  • इसके आलावा शिफूजी चीफ कमांडो मेंटोर और भारत के प्रथम एकमात्र कमांडो ट्रेनर के तौर पर सेना और कई राज्यों की स्पेशल आर्म्ड फाॅर्स को ट्रेनिंग दे चुके हैं। मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों की स्पेशल आर्म्ड फाॅर्स को शिफूजी ने अलग अलग टैक्टिस से दुश्मन से निपटने के गुर शिखाये हैं।
  • शिफूजी शौर्य भारद्वाज कभी एक जगह नहीं रहते हैं दरअशल शिफूजी अलग अलग जगहों पर वर्कशॉप के जरिये युवाओ खासतौर पर महिलाओ को प्रोग्राम मिशन परिहार के जरिये सेल्फ डिफेन्स की ट्रैनिग देते हैं।
  • शिफूजी शौर्य भारद्वाज ने भारतीय सशस्त्र बलों, अर्ध-सैन्य बलों, पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण भी दिया है। उन्होंने एक स्वतंत्र प्रशिक्षक के रूप में अपने लंबे करियर में कई सैन्य इकाइयों को प्रशिक्षित किया है, और सेना और राज्य स्तर की सेना दोनों के लिए युद्ध और रणनीतिक प्रशिक्षण कार्यक्रम विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  • शिफूजी महिलाओं को एंटी रेप टैक्टिस भी सिखाते हैं उनका मानना हैं आज के वक़्त में अपनी रक्षा के लिए महिलाओ को सेल्फ डिफेन्स और मार्शल आर्ट्स की शिक्षा लेनी चाहिए। जिससे महिलाएँ कठिन से कठिन परिस्थिति में भी स्वयं की रक्षा कर सके।
  • शिफूजी बहुत ही बड़े एक्शन निर्देशकों, अभिनेताओं, फिल्मों, मशहूर हस्तियों और बॉलीवुड के टॉप स्टंट लोगों के मुख्य सलाहकार हैं।
  • शिफूजी भारतीय योद्धा भिक्षुओं, कलारिपयट्टू परंपरा के संस्थापक, ग्रैंडमास्टर हैं।
  • शिफूजी बागी फिल्म जो की 2016 में रिलीज़ हुई थी उसके चीफ एक्शन मेंटर, चीफ एक्शन कंसल्टेंट और चीफ मूव डिजाइनर रह चुके हैं।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज के द्वारा शुरू की गयी ट्रेनिंग

  • शिफूजी ने “MITTI” सिस्टम कमांडो ट्रेनिंग की शुरुआत की हैं। इसका उद्देश्य विशेष रूप से शहरी युद्ध में ऊपरी शरीर को मजबूत करने के नियम पर केंद्रित है।भारतीय हाट योग, नदी तैराकी, अत्यधिक लचीलापन या शरीर पर नियंत्रण जैसे कौशल को शामिल करता है।
  • शिफूजी ने MARMAH ट्रेनिंग का प्रारम्भ किया जिसका मुख्य उद्देश्य हैं हथियारों के साथ और बिना हथियार (MAMW3) के गिरफ्तारी के तरीके सिखाना।
  • शिफूजी ने Deadliest Single Second Control Methods (DSSCM) की शुरुआत की।
  • शिफूजी ने विशेष कमांडो वीआईपी CQB सुरक्षा कौशल की शुरुआत की।
  • शिफूजी ने स्पेशल मॉडिफाइड क्लोज क्वार्टर बैटल (SMCQB) की शुरुआत की हैं।
  • शिफूजी ने लेथल मिलिट्री अनआर्म्ड कॉम्बैट (LMUAC) और ऑपरेशनल सिंगल टच कंट्रोल (OSTC) की शुरुआत की हैं।
  • शिफूजी ने घातक धार वाले हथियारों के साथ गुरिल्ला युद्ध के तरीके (MGWLW) सिखाने की शुरुआत की हैं।
  • शिफूजी ने शत्रु विनाशक हत्या कौशल (S2KS) और चरम शहरी युद्ध तंत्र (EUWM) ट्रेनिंग की शुरुआत की हैं।
  • शिफूजी ने No Mercy Training System for Extreme Jungle and Urban Survival (NMTS) की शुरुआत की।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज इन मिशन के संस्थापक हैं

शिफूजी निम्नलिखित मिशनों के प्रमुख व संस्थापक हैं।

  • SASS9 (Shifuji’s Advanced Security Solutions)
  • मिशन भगत सिंह
  • मिशन मेरी मिट्टी
  • मिशन भारत विश्वगुरु
  • मिशन प्रचंड भारत
  • मिशन भारत मठ
  • मिशन सैन्य और मिशन अनिवार्य आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण
  • मिशन इंडियन पैट्रियट्स
  • मिशन क्रांतिकारी गौरव
  • मिशन शहादत सम्मान।

शिफूजी शौर्य भारद्वाज को मिले पुरुस्कार

शिफूजी शौर्य भारद्वाज को अब तक “शहीद ए आजम भगत सिंह संभावना पुरस्कार” और “स्वराज शौर्य सम्मान” से नवाजा जा चुका हैं।

निष्कर्ष

उम्मीद करता हूँ दोस्तों आपको मेरे इस ब्लॉग से कुछ नयी जानकारी प्राप्त हुई होगी। ऊपर दी गयी सभी जानकारी रिसर्च बेस पर आधारित हैं इसमें थोड़ा बहुत अगर गलत भी हो तो आप मुझे कमेंट करके बता सकते हैं। ऐसे ही ब्लॉग पढ़ने के लिए हमारे नोटिफीकशन को allow करें।

Share this article